शिक्षक भर्ती की मांग को लेकर बेरोजगारों ने किया शिक्षा मंत्री का घेराव, कहा- गुजर रही है उम्र

Education Uttarakhand

प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षकों के रिक्त पदों पर भर्ती की मांग को लेकर बीएड, टीईटी, डीएलएड प्रशिक्षित बेरोजगारों ने शिक्षामंत्री डा. धन सिंह रावत के यमुना कालोनी स्थित आवास का घेराव किया। प्रशिक्षित दिन में 11 बजे से शाम चार बजे तक वहीं धरने पर बैठे रहे, मगर उनकी मंत्री से बात नहीं हो पाई।
बुधवार सुबह प्रदेशभर से पहुंचे प्रशिक्षितों ने प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया को शुरू करने की मांग को लेकर शिक्षा मंत्री के आवास का घेराव किया। प्रशिक्षितों का कहना था कि विभाग ने सहायक अध्यापक प्राथमिक के रिक्त पदों पर वर्ष 2018, 2020 और 2021 में लगभग तीन हजार पदों के लिए विज्ञप्ति जारी की, मगर लंबा समय बीतने के बाद भी नियुक्ति प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाई है। जिससे प्रशिक्षित युवाओं में भारी रोष है।
महासंघ के पूर्व मीडिया प्रभारी अरविंद राणा ने कहा कि वे लंबे समय से नियुक्ति प्रक्रिया शुरू करने को वार्ता कर रहे हैं, मगर विभाग कोई ठोस कार्यवाही नहीं कर रहा है। बागेश्वर से पहुंचे नरेंद्र रौतेला ने कहा कि उनकी राजकीय सेवा के लिए उम्र की सीमा पूरी हो चुकी है और भर्ती ही उनके चयन की एक मात्र उम्मीद है। भविष्य में होने वाली भर्ती में वह आवेदन नहीं कर पाएंगे।
सैकड़ों अभ्यर्थियों के साथ यही स्थिति है। महासंघ की प्रदेश अध्यक्ष संगीता शाह ने आरोप लगाया कि वे शिक्षा मंत्री से बात करने को एकत्र हुए थे, लेकिन शिक्षा मंत्री उनसे मिले बिना चले गए। धरना देने वालों में मनोज भारत, प्रवीण खजाना, राकेश, प्रीति, मधू, रेखा, रिंकी आदि शामिल रहे।