गंगोत्री हाईवे पर एक चट्टान गिरने से कुछ लोग दबे

Crime Uttarakhand

गंगोत्री हाईवे पर एक चट्टान गिरने से कुछ लोग दब गए हैं। 200 मीटर की दूरी पर भारी बोल्डर गिरे हैं। अब तक पांच घायलों को बाहर निकाला गया है। जबकि एक व्यक्ति मर चुका हैं।

डबरानी में उत्तरकाशी गंगोत्री हाईवे के पास एक चट्टान अचानक टूट गई, जिसके नीचे कुछ लोग दब गए। खबर मिलते ही मौके पर बचाव और राहत टीमें पहुंचीं। प्राप्त सूचना के अनुसार, डबरानी के पास पहाड़ी में भी आग लगी है। जिस स्थान पर चट्टान टूटा हैं।

हादसे में एक व्यक्ति की मौत हो गई है, जबकि पांच घायल है।गंभीर घायल दो लोगों को एयर लिफ्ट किया जाएगा। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हर्षिल के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ.विक्रम मंडल ने बताया कि गंभीर घायलों में दो लोगों को एयरलिफ्ट कर जिला अस्पताल भेजा जा रहा है। अन्य मरीजों को भी जरुरत पड़ने पर जिला अस्पताल रेफर किया जाएगा। हादसे में छह लोग घायल हैं।

शुक्रवार को हादसे की सूचना पर पुलिस टीम मौके पर पहुंचकर रेस्क्यू कार्य में जुटी। अभी तक एक मृतक और पांच घायलों का रेस्क्यू किया जा चुका है। घायलों को उपचार के लिए हर्षिल भेज दिया गया है। पहाड़ी से अभी भी पत्थर गिर रहे हैं।

जब यातायात रुक गया, जिलाधिकारी डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट ने राहत और बचाव टीमों को तुरंत मौके पर पहुंचने का आदेश दिया। घटनास्थल पर पुलिस, एसडीआरएफ, एनडीआरएफ, राजस्व टीम और आपदा टीम पहुंचीं। गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर सभी वाहनों को सुरक्षित जगह पर रोका गया है। हर्षिल और गंगोत्री के बीच करीब पांच सौ वाहन रुके हुए हैं। बोल्डर को रास्ते से निकालने का काम अभी भी जारी है। वाहनों को पूरी तरह से सुरक्षित होने के बाद ही छोड़ा जाएगा।

हर्षिल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ.विक्रम मंडल ने बताया कि डबराणी हादसे के कुल पांच घायलों को स्वास्थ्य केंद्र में लाया है। कोई भी अभी बातचीत की स्थिति में नहीं है। वहीं सीओ उत्तरकाशी प्रशांत कुमार ने बताया कि दो सौ मीटर हिस्से में बोल्डर गिरे हैं। जिस वजह से अभी स्थिति साफ नहीं हो पा रही है, कि कितने लोग दबे हैं। पहाड़ी से बोल्डर गिरने का सिलसिला भी जारी है।