गांवों के लिए धामी सरकार ने तैयार किया सॉलिड प्लान… उत्तराखंड में 9914 किमी ग्रामीण सड़कों का होगा कायाकल्प

Politics Uttarakhand

सड़क सुविधा से वंचित राज्य के 3177 गांव मुख्यमंत्री ग्राम संपर्क योजना के तहत मुख्य मार्ग से जुड़ेंगे। लोनिवि एवं ग्रामीण निर्माण मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि इन गांवों के लिए 9914 किलोमीटर सड़कों का निर्माण कराया जाएगा।

2030 गांव मुख्य मार्ग से नहीं जुड़े हुए हैं
कैबिनेट मंत्री महाराज ने बताया कि वर्तमान में राज्य के 2035 गांव मुख्य मार्ग से नहीं जुड़े हैं, जबकि 1142 गांवों के लिए बने कच्चे मार्ग ग्रामीण सड़कों के मानक के अनुरूप नहीं हैं। इन सभी गांवों को मुख्यमंत्री ग्राम संपर्क योजना में लिया गया है। उन्होंने कहा कि जो गांव अभी सड़क से नहीं जुड पाए हैं, उनका चयन जिला स्तर पर जिले के प्रभारी मंत्री की अध्यक्षता में गठित समिति करेगी। समिति द्वारा प्राथमिकता व अवरोही क्रम में गांवों की जनसंख्या के अनुसार योजनाओं की संस्तुति की जाएगी।

न्यूनतम चौड़ाई 3 मीटर रखी जाएगी
उन्होंने कहा कि इन योजनाओं के लिए प्रथम चरण में राज्य योजना से स्वीकृति दी जाएगी, जबकि द्वितीय चरण के कार्यों का वित्त पोषण नाबार्ड के माध्यम से किया जाएगा।सड़क के निर्माण तल की चौड़ाई 5.20 मीटर और कैरिज वे की न्यूनतम चौड़ाई 3.00 मीटर रखी जाएगी। सड़क निर्माण के लिए भूमि का अधिग्रहण सामान्यतया सात मीटर चौड़ाई में किया जाएगा। उन्हेांने कहा कि गांवों के सड़क से जुड़ने पर यातायात सुविधा मिलने के साथ ही स्थानीय उत्पादों को बाजार तक पहुंचाने में आसानी होगी, वहीं इनका उचित मूल्य भी ग्रामीणों को मिल सकेगा।