केदारनाथ पहुंचकर स्वेता सिंह कीर्ति ने अपने भाई स्व. सुशांत सिंह राजपूत को याद किया

Travel Uttarakhand

केदारनाथ पहुंचते ही स्वेता सिंह कीर्ति ने अपने भाई फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत को लेकर कहा कि वह मेरे साथ है और ऐसा लगता है कि वह मेरे भीतर है, जैसे वह कभी नहीं छोड़ता। उनके सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर, वे केदारनाथ में अपने अनुभव को साझा करते हैं।

फिल्म अभिनेता स्व. सुशांत सिंह राजपूत की बहिन स्वेता सिंह कीर्ति ने पिछले शनिवार को फाटा से हेलिकॉप्टर से धाम पहुंचकर रो पड़ी। मंदिर परिसर के पीछे दिव्य शिला के नीचे भी ध्यान लगाया। उन्होंने धाम में एक साधु के साथ भी फोटो खिंची, जिसके साथ सुशांत राजपूत ने 2016 में केदारनाथ फिल्म की शूटिंग के दौरान धाम में फोटो खिंची थी।

 

 

स्वेता सिंह ने अपनी केदारनाथ यात्रा के बारे में अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर फोटो के साथ जानकारी दी है। उन्होंने लिखा कि चार वर्ष पूर्व 14 जून 2020 को मैने अपने प्रिय भाई सुशांत को खो दिया था। आज, जब केदारनाथ पहुंची तो उसे, यहां हर जगह महसूस कर रही हूं।

धाम में पहुंचते ही उसके आंसू बहने लगे. वह कुछ देर इधर-उधर घूमना चाहती थी, लेकिन मन नहीं माना और एक जगह बैठ गई। वह मुझे गले लगाने के लिए कह रहा है। मैं उसी स्थान पर बैठ गया और ध्यान लगाने लगा। उन्हें अपने भाई सुशांत राजपूत को लेकर बहुत भावुक होकर सोशल मीडिया पर बहुत कुछ लिखा है।

 

स्वेता सिंह कीर्ति के केदारनाथ भ्रमण को लेकर किसी को कोई जानकारी नहीं है। उनके केदारनाथ आने की जानकारी तभी लगी, जब उन्होंने अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर साझा की।

 

 

 

 

 

इधर, बीकेटीसी के सीईओ योगेंद्र सिंह और धाम में मौजूद तीर्थपुरोहित पंडित आनंद शुक्ला ने बताया कि स्वेता सिंह कीर्ति के धाम पहुंचने के बारे में कोई जानकारी प्राप्त नहीं हो पाई। वह, आम श्रद्धालु की तरह धाम पहुंची और दर्शन कर कुछ देर रुकने के बाद वापस लौट गईं।

अभिषेक कपूर द्वारा लिखित, निर्देशित फिल्म केदारनाथ में सुशांत सिंह राजपूत और सारा अली खान ने अहम भूमिका निभाई थी। जून 2013 की केदारनाथ आपदा पर आधारित इस फिल्म में सुशांत ने एक पिट्ठू (कंडी संचालक) की भूमिका निभाई थी। इस फिल्म की शूटिंग त्रियुगीनारायण, केदारनाथ और चोपता में की गई थी। फिल्म का ट्रेलर जारी होने के बाद काफी विरोध भी हुआ था, जिस कारण इसे कुछ स्थानों पर रिलीज नहीं किया गया था।